गुरुवार, 26 फ़रवरी 2015

।। देह प्रेम ।।

























देह
प्रेम का भ्रम है

देह
प्रेम का छल है

देह
प्रेम का झूठ है

देह
प्रेम का दुःख है

देह
प्रेम की उलझन है

देह
प्रेम का स्वाद है क्षणिक ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें