।। प्रतीक्षा में प्रार्थना ।।


 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
प्रतीक्षा
प्रार्थना में लीन है
प्रार्थना
तपस्यारत है
सदिच्छाओं के स्पर्श के लिए
सर्वसुख की देह में बसा है सर्वहित
जैसे वह ही है प्राणतत्व
संपूर्ण ब्रह्माण्ड में ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सूरीनाम में रहने वाले प्रवासियों की संघर्ष की गाथा है 'छिन्नमूल'

पुष्पिता अवस्थी को कोलकाता में ममता बनर्जी ने सम्मानित किया

।। सच ।।