मंगलवार, 17 सितंबर 2013

।। आयक्स एरीना में ।।



















5 मई 2013 से पहले
कभी नहीं, कोच फ्रान्क द बूर ने बजायी होंगी
इतनी सीटियाँ
शायद अपने जीवन में भी नहीं
और लड़कियों के लिए तो कभी नहीं

हालैंड देश के लिए
फ्राई दाख़
स्वतंत्रता दिवस 5 मई

जहाँ लोग
आपस में कह रहे थे
बीयर है स्वतंत्रता
तो कोई कहता संगीत है फ्राई हाइड

लेकिन

आयक्स एरीना में
फुटबॉल खिलाड़ी
5 मई को 5 गोल बनाकर
आयक्स क्लब देश का फुटबॉल चैम्पियन होकर
पाँचों उँगलियों की मुट्ठी तानकर
कोच फ्रान्क द बूर के साथ
'एक' होकर घोषणा कर रहे थे कि
फुटबॉल खेल है फ्राई हाइड
चैम्पियनशिप है फ्राई हाइड
सच्चेमन और सच्चेपन का खेल है फ्राई हाइड
खिला खुश जीवन है फ्राई हाइड
प्रेम है फ्राई हाइड

कोच फ्रान्क द बूर ने
5 मई 2013 को
आयक्स एरीना में
अपने जुड़वाँ भाई रोनाल्ड के नवसिखवे खिलाड़ियों को
वर्ष भर में किया दक्ष
और बना दिया देश का फुटबॉल चैम्पियन खिलाड़ी

जबकि
अपने एरीना घर में ही
ए जेड क्लब के कीपर एस्तबान को
लाल कॉर्ड मिलने पर
आग बबूला हो उठे थे
कोच खेट यान फरबेक
कूद पड़े थे अम्पायर और खिलाड़ियों के बीच
खेल को अपने हाथ में लेकर
खिलाड़ियों को इशारे से करते हैं मैदान बाहर
और अम्पायर से कहते हैं मैच इज ओवर
अट्ठावन मिनट में ख़त्म हो जाता है खेल
फिर भी
अपने खिलाड़ियों का हिम्मत और हौंसला बने हुए
चुप रहते हैं फ्रान्क द बूर

ऐसे ही
आयक्स टीम की
अपने ही एरीना में
दो-दो पैनाल्टी को अम्पायर ने
जानबूझकर नजर अंदाज़ कर दिया था
और बने हुए दो गोल को 
ऑफ साइड करार कर
छीन लिए थे आयक्स क्लब के सारे प्वाइंट

और उधर लिओन ने
बना डाले सात गोल
अम्पायर की पैनाल्टियों की कृपा से
आयक्स टीम 2012 की
यूरोपियन लीग चैम्पियनशिप की प्रतियोगिता से
देखते-देखते बाहर हो गयी थी
चालीस मिनट के भीतर

कहाँ से लाते हैं धैर्य
और कैसे बर्दाश्त करते हैं अन्याय
अपने खिलाड़ी बच्चों के साथ
जिन्हें पाल रहे हैं
रोनाल्ड और फ्रान्क द बूर जुड़वाँ भाई
अपने हुनर का खून पिला कर

मार्को और मारोवाइक ने
विश्व कप की लड़ाई में
ऐसे ही सहा था अन्याय

फुटबॉल खेल के मैदान में
अब सिर्फ बॉल नहीं है खेल के बीच
बल्कि खेल रहे हैं
अम्पायर और उसको खिलाने वाले संगठन
प्रभुत्व, सत्ता और धन का खेल
चाहे, इसके लिए करना पड़े
कोई भी भ्रष्टाचार या कुछ भी

फिर भी
अन्याय सहने के बावजूद
गहरे रात गये
मिलती होगी तसल्ली
यह सोचकर कि
योहान क्रॉउफ की
फुटबॉल खेल परंपरा को
आगे बढ़ा रहे हो तुम
अपने नवयुवा खिलाड़ियों के साथ

इस दुष्ट हुए समय में भी

जबकि
फुटबॉल खेल भी
युद्ध और व्यवसाय में
बदल गया है ।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें