बुधवार, 31 दिसंबर 2014

'शब्दों में रहती है वह' का उल्लेख

वरिष्ठ समीक्षक ओम निश्चल ने इस वर्ष प्रकाशित पुस्तकों के परिदृश्य का जायेजा लेते हुए 
'बची हुई है अभी शब्द की महिमा' शीर्षक से एक विस्तृत आलेख लिखा है, 
जिसे 'समालोचन' ब्लॉग पर पढ़ा जा सकता है । 
इस आलेख में पुष्पिता अवस्थी के इस वर्ष प्रकाशित कविता संग्रह 
'शब्दों में रहती है वह' का भी उल्लेख हुआ है । 
उस उल्लेख को इस स्नेप शॉट चित्र में देखा/पढ़ा जा सकता है :


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें